Sunday, 24 May 2020

Please Read And Share with Your Near and Dear

LOCK DOWN 
में छूट सरकार ने दी है
कोरोना ने नहीं
https://bit.ly/2Xr1g2X

एक दिन अचानक बुख़ार आता है ! 
गले में दर्द होता है ! 
साँस लेने में कष्ट होता है !
Covid-19 टेस्ट की जाती है ! 
1 दिन तनाव में बीतता हैं . .  
अब टेस्ट + ve आने पर रिपोर्ट नगर पालिका जाती है ! 
रिपोर्ट से हॉस्पिटल तय होता है ! 
फिर एम्बुलेंस कॉलोनी मोहल्ले में आती है ! 
कॉलोनीवासी खिड़की से झाँक कर तुम्हें देखते हैं ! 
कुछ लोग आपके लिए टिप्पणियां करते है ! 
कुछ मन ही मन हँस रहे होते हैं ! 
एम्बुलेंस वाले उपयोग के कपड़े रखने का कहते हैं ! 
बेचारे घरवाले तुम्हें जी भर कर देखते हैं ! 
और वो भी टेन्सन में आ जाते है 
और सोचने लगते है कि अब किसका नम्बर है ! 
तुम्हारी आँखों से आँसू बोल रहे होते हैं ! 
तभी . . . 
प्रशासन का आदमी बोलता है... 
चलो जल्दी बैठो 
आवाज़ दी जाती है ...
एम्बुलेंस का दरवाजा बन्द . . . 
सायरन बजाते रवानगी . . .  

फिर कॉलोनी वाले बाहर निकलते है ..

फिर कॉलोनी सील कर दी जाती है . . . 

14 दिन पेट के बल सोने को कहा जाता है . . . 

दो वक्त का जीवन योग्य खाना मिलता है . . . 

Tv  Mobile सब अदृश्य हो जाते हैं . . 

सामने की खाली दीवार पर अतीत और भविष्य के दृश्य दिखने लगते..

और वहां पर बुरे बुरे सपने आने लगते है..

अब आप ठीक हो गए तो ठीक . . .

वो भी जब 
3 टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आ जाएँ . . .
तो घर वापसी . . . 

लेकिन इलाज के दौरान यदि आपके साथ कोई अनहोनी हो गई तो . . .?

तो आपके शरीर को प्लास्टिक के कवर में पैक कर सीधे शव दाहगृह . . . 

शायद अपनों को अंतिमदर्शन भी नसीब नहीं . . . 

कोई अंत्येष्टि क्रिया भी नहीं . . .
  
सिर्फ परिजनों को एक डेथ सर्टिफिकेट
और . . . . 
खेल खत्म...
बेचारा चला गया . . . 
अच्छा था ...
इसीलिए बेवजह बाहर मत निकलिए . . .  
घर में सुरक्षित रहिए .  
बाह्यजगत का मोह..
और हर बात को हल्के में लेने की आदतें त्यागिए . . . 

2020 काम धंधे का 

कमाई करने का नहीं है ..

पिछले वर्षों में कमाया 

उसे खर्च कर काम चलाईये ..

मार्च 2020 से दिसम्बर 2020 तक 10 माह 
कमाने का वर्ष नही है.. 

जीवन बचाने का वर्ष है..

जीवन अनमोल है ....

कड़वा है किंतु यही सत्य है

🙏🙏🙏🙏🙏🙏













No comments:

Post a comment