Monday, 13 May 2019

Pepsi And Coca Cola!

इसको आगे भेजते जाइये,  भारत के भविष्य को संवारिये 

पेप्सी बोली सुन कोका कोला !
भारत का इन्सान है बहुत भोला।

विदेश से मैं आयी हूँ,
साथ में मौत को लायी हूँ ।

लहर नहीं ज़हर हूँ मैं,
गुर्दों पर गिरता कहर हूँ मैं ।

मेरी पी.एच. दो पॉइन्ट सात,
मुझ में गिरकर गल जायें दाँत ।


जिंक आर्सेनीक लेड हूँ मैं,
काटे आतों को, वो ब्लेड हूँ मैं ।



हाँ दूध मुझसे सस्ता है,
फिर पीकर मुझको क्यों मरना है ।



540 करोड़ कमाती हूँ,
विदेश में ले जाती हूँ ।

मैं पहुँची हूँ आज वहाँ पर,
पीने को नहीं पानी जहाँ पर ।

छोड़ो नकल अब अकल से जीयो,
और जो कुछ पीना संभल के ही पीयो ।

बच्चों को यह कविता सुनाओ,
नीबूपानी पिओ सौ साल जिओ ॥

(इसको आगे भेजते जाइये,
भारत के भविष्य को संवारिये ॥)

https://crazy-guru.anxietyattak.com/2019/05/pepsi-and-coca-cola.html












Pepsi quote listening to Coca Cola!

Indian's Are very  Innocent n Simple


I have come from abroad,
I have brought death together.

I do not wave the poison,
I am wondering on the kidneys.

My Ph.  Two point seven
Let me fall in my teeth.

I'm Zinc Arsenic Lead,
I am the blade, I am the blade.

Yes milk is cheaper than me,
Then why do you want to die and drink me?

I earn US$ 540 Million,
I will take it  abroad.

Leave the duplication now live by accident,
And drink whatever you drink.


Tell this poem to children,
Drink Nibupani and  Live by Hundred Years life


(इसको आगे भेजते जाइये,
भारत के भविष्य को संवारिये ॥)

https://crazy-guru.anxietyattak.com/2019/05/pepsi-and-coca-cola.html

(Forward it to, ALL  to Save the future of India.)






No comments:

Post a comment