Monday, 14 December 2020

102 KGs of Gold lost due to CBIs Poor custody, the court entrusted the investigation to the police, then CBI started asking for its respect

For the first time in 70 years…

70 सालों में पहली बार...

सीबीआई की कस्टडी से 102 किलो सोना ग़ायब, कोर्ट ने पुलिस को सौंपी जांच तो सीबीआई लगाने लगी अपनी इज्जत की गुहार...

102 KGs of Gold lost due to CBIs  Poor  custody, the court entrusted the investigation to the police, then CBI started asking for its respect ...

102 kg of gold has gone missing from CBI custody in Tamil Nadu. After which the Madras High Court on Friday ordered the Tamil Nadu Police to investigate it. The price of this gold is around Rs 43 crore. The CBI has been embarrassed after the High Court verdict. The agency says that the CBI's reputation will come down if it is investigated by the local police ...!

The court has rejected the CBI's plea for not being investigated by the local police and asked the CB-CID to file an FIR. The court said, "It may be an ordeal for the CBI, but nothing can be done." If their hands are clean like Sita, they will survive and if not, they will have to bear the brunt of it. ”

The CBI Special Public Prosecutor has asked for a probe with the CBI or the National Investigation Agency instead of the state police. To this, Judge PN Prakash said that the court cannot do so as the law does not approve such an attack. The judge said that all policemen should be trusted and to say that the CBI is different and the local police should not investigate it is wrong ...!

Friends, there is a chaos in the country, sometimes Rafale's secret papers are stolen from the Ministry of Defense, sometimes the file of Vijay Mallya gets burnt from the court and now 102 kg of gold has disappeared from an institution like CBI. Neither the Ministry of Defense is safe, neither the court is safe nor the CBI is safe. Sometimes the top two top officials of the ED openly accuse each other, file a case, conduct raids, and sometimes four senior judges of the Supreme Court come on the road and press journalists and accuse the Chief Justice of bias ... !

It is called "Andher Nagari Chaupat Raja" and the king of the country describes himself as having a fifty-six inch chest ... 

70 सालों में पहली बार...

सीबीआई की कस्टडी से 102 किलो सोना ग़ायब, कोर्ट ने पुलिस को सौंपी जांच तो सीबीआई लगाने लगी अपनी इज्जत की गुहार...
तमिलनाडु में सीबीआई की हिरासत से 102 किलो सोना गायब हो गया है। जिसके बाद मद्रास उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को तमिलनाडु पुलिस को इसकी जांच करने के आदेश दिये हैं। इस सोने की कीमत करीब 43 करोड़ रुपये है। हाई कोर्ट के फैसले के बाद सीबीआई को शर्मिंदा होना पड़ा है। एजेंसी का कहना है कि यदि स्थानीय पुलिस द्वारा जांच की जाती है तो सीबीआई की प्रतिष्ठा नीचे आ जाएगी...!
कोर्ट ने सीबीआई की स्थानीय पुलिस द्वारा जांच ना कराये जाने की याचिका को खारिज कर दिया है और सीबी-सीआईडी ​​को एफ़आईआर दर्ज करने के लिए कहा है। कोर्ट ने कहा “यह सीबीआई के लिए अग्नि परीक्षा हो सकती है, लेकिन इसका कुछ नहीं किया जा सकता। अगर सीता की तरह उनके हाथ साफ हैं, तो वे बच जाएंगे और यदि नहीं, तो उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।”
सीबीआई के विशेष लोक अभियोजक ने राज्य पुलिस के बजाय सीबीआई या राष्ट्रीय जांच एजेंसी से जांच कराने की बात कही है। इस पर न्यायाधीश पी एन प्रकाश ने कहा कि अदालत ऐसा नहीं कर सकती, क्योंकि कानून इस तरह के आक्षेप को मंजूरी नहीं देता है। जज ने कहा कि सभी पुलिसकर्मियों पर भरोसा किया जाना चाहिए और यह कहना कि सीबीआई अलग है और स्थानीय पुलिस को उसकी जांच नहीं करनी चाहिए गलत है...!
दोस्तों, देश में अफलातून सरकार है, कभी रक्षा मंत्रालय से राफेल के सीक्रेट काग़ज़ चोरी हो जाते हैं, तो कभी कोर्ट से विजय माल्या की फाइल जल जाती है और अब सीबीआई जैसी संस्था से 102 किलो सोना गायब हो गया. ना रक्षा मंत्रालय सुरक्षित, ना कोर्ट सुरक्षित और ना सीबीआई सुरक्षित. कभी ईडी के शीर्ष दो बड़े अधिकारी खुले आम एक दूसरे पर आरोप लगाते हैं, केस दर्ज कराते हैं, छापे डलवाते हैं, तो कभी सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जज सड़क पर आकर पत्रकार वार्ता कर चीफ जस्टिस पर पक्षपात का आरोप लगाते हैं...!
इसे कहते हैं "अंधेर नगरी चौपट राजा" और देश का राजा खुद को छप्पन इंची सीने वाला बताता है...


No comments:

Post a comment