Monday, 31 August 2020

Important Schemes of Government

🟢* सरकार की महत्वपूर्ण योजनाये*
Important Schemes of Government *
https://bit.ly/34PFDhY

1. Women in the society whose age is 55 years or date of birth is 01/01/1965 or more and men whose age is 58 years or date of birth is 01/01/1962 or more, by taking Jan Aadhaar card on e-friend Apply your pension so that they can get 750 pension every month from the state government.

2. Women of the society who are widows can apply for pension by taking their husband's death certificate and Jan Aadhar Kee Mitra.

3. Those who are getting their pension should register their correct age in their Bhamashah card so that their pension will continue to increase as per the rules.

1000 rupees above 75 years old, widow above 60 years old and widow above 75 years will get 1500 rupees per month.



4. The brother who is handicapped, in any way, he is handicapped, he should visit his brother-in-law and get his handicap registered so that his handicap certificate can be created and then he can also apply for pension by making a certificate.



5. If the children of pensioned widow, mother's children and handicapped woman go to school, the government will raise their children from 0 to 5 years for 500 rupees and children between 6 and 18 years for 1000 rupees. See you every month. Palanhar Scheme



6. If there is land anywhere in the name of any woman or man, then by taking bank, Bhamashah and land documents on E Mitra, applying under the Prime Minister Kisan Samman Nidhi Yojana, he can take 6000 rupees in installments every year.



7. If the holder of any eligible ration card does not get the government wheat of 2 rupees kg, then he can fill the food security form by visiting the e-friend, whose wheat comes soon, the wheat starts. (Disabled pension, widow,)



8. Farmers who have land can also apply for a short term loan from the society.



9. People of working class who have got labor beneficiary card (labor card) can get many benefits of beneficiary card in it, such as Shubh Shakti Yojana, Scholarship Scheme, Maternity Assistance and death of beneficiary in case of untimely death. Is is



10. Widow woman and BPL woman or man can avail government benefits by applying for their two daughter's marriage under the cooperation scheme.



11. Girls with more than 75% marks can fill Gargi Award and Scooty Scheme form



12. The necessary documents for children like birth certificate, Aadhaar card, caste certificate, basic residence income certificate etc. should be made on time so that they do not have to run for them at the same time.



13. After the completion of 18 years of their children, submit the documents with the BLO and prepare the voting card so that they too can exercise their franchise.



14. The names of families living below the poverty line should be added to the Chief Minister's Housing Scheme so that they can benefit.



15. Those who are old and whose pension is withdrawing the amount of their pension from time to time, after the death of the pension holder, the pension deposited in his account has to be credited back to the government, that money cannot be raised by anyone else. Even if you raise it anyway, you have to deposit it back with interest.



16. A brother who has an ATM should carry out transactions at regular intervals from his ATM so that he has accident insurance, which is necessary to claim at the time of the accident.



17. Those who have an account in the bank, fill the form of Pradhan Mantri Accident Insurance Scheme in their account and can get a good accident insurance for Rs 12, 330 and Rs 500 per year.



18. Those who have daughters and are born in 2010 or later, can open their account in Sukanya Samriddhi Yojana for their daughters and deposit a fixed amount every month, in which the girl who will get money after 21 years by filling the money for 14 years Are useful for



19. Those who are willing to invest in Mutual Funds can take SIP (Small Investment Plan) from SBI and other banks, by visiting their bank branch.



20. Get free admission in expensive privet school to your children from poor family. R.T.E. in planning.




Please make this information accessible to the needy so that they are not deprived of government benefits.

🟢* सरकार की महत्वपूर्ण योजनाये*

1. समाज में ऐसी महिला जिनकी आयु 55 वर्ष या जन्म तारीख 01/01/1965 है या इससे ज्यादा है और पुरूष जिनकी आयु 58 वर्ष या जन्म तारीख 01/01/1962 या इससे ज्यादा है वो ई मित्र पर  जन आधार कार्ड ले जाकर अपना पेंशन आवेदन  करावे ताकि उनको राज्य सरकार की तरफ़ से हर माह 750 पेंशन मिल सके ।

2. जो समाज की महिला विधवा है वो अपने पति का मृत्यु प्रमाण पत्र और  जन आधार कार् ई मित्र पर ले जाकर पेंशन के लिए आवेदन कर सकते है ।

3. जिस किसी के पेंशन आ रही है वो अपने भामाशाह कार्ड में अपनी सही आयु दर्ज करावे ताकि उनकी पेंशन में नियमानुसार बढ़ोतरी होती रहे । 
75 साल से ऊपर वृद्ध को 1000 रुपये 60 साल से ऊपर विधवा को 1000 रुपये ओर 75 साल से ऊपर विधवा को 1500 रुपये प्रति माह मिलेंगे ।

4. जो भाई विकलांग है चाहे वो किसी भी प्रकार से विकलांग है वो बन्धु ई मित्र पर जाकर अपना विकलांग पंजीकरण करावे ताकि उसका विकलांग प्रमाण पत्र बन सके और फिर वो भी प्रमाण पत्र बना कर पेंशन के लिए आवेदन कर सकते है ।

5. पेंशन लेने वाली विधवा महिला, नाता जाने वाली माँ के बच्चे और विकलांग महिला पुरुष के बच्चे अगर स्कूल जाते है तो उसके बच्चों को पालने के लिए सरकार 0 से 5 साल तक 500 रुपये ओर 6 से 18 साल तक के बच्चों को 1000 रुपये हर माह मिलते है। पालनहार योजना

6. किसी भी महिला या पुरुष के नाम से कही पर भी जमीन है तो वो ई मित्र पर बैंक, भामाशाह और जमीन के दस्तावेज ले जाकर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत आवेदन करवा कर हर साल किस्तो में 6000 रुपये ले सकता है।

7. किसी भी योग्य राशन कार्ड के धारक को 2 रुपये किलो वाले सरकारी गेंहू नही मिलते है तो वो ई मित्र पर जाकर खाद्य सुरक्षा फॉर्म भरा सकते है जिनके पेंशन आती है उनके जल्दी गेहू शुरू हो जाते है। (विकलांग पेंशन,विधवा, )

8. जिन किसानों के जमीन है वो सोसायटी से अल्पकालीन ऋण आवेदन भी कर सकता है ।

9. मजदूर वर्ग के लोग श्रम हिताधिकारी कार्ड(श्रमिक कार्ड) बनवा कर रखे उनको उसमें हिताधिकारी कार्ड की कई प्रकार की योजनाओं जैसे शुभ शक्ति योजना, छात्रवृति योजना, प्रसूति सहायता और हिताधिकरी कि असामयिक मृत्यु होने पर मृत्युदावा के अलावा बहुत से फायदे ले सकते है है ।

10. विधवा महिला और BPL महिला या पुरुष अपने दो बेटी की शादी के लिए सहयोग योजना के तहत आवेदन करके सरकारी फायदा ले सकते है ।

11. 75% से अधिक अच्छे अंक प्राप्त करने वाली बालिका गार्गी पुरुस्कार ओर स्कूटी योजना का फॉर्म भर सकती है

12. बच्चों के लिए आवश्यक दस्तावेज  जैसे जन्म प्रमाण पत्र,आधार कार्ड,जाति प्रमाण पत्र, मूल निवास आय प्रमाण पत्र आदि समय पर बनाते रहे ताकि एन वक्त पर इनके लिए भागना नही पडे।

13. अपने बच्चों के 18 वर्ष पूर्ण होते ही BLO के पास तय दस्तावेज जमा करवा कर मतदान कार्ड बनावे ताकि वो भी अपने मताधिकार का प्रयोग कर सके ।

14. गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार के नाम मुख्यमंत्री आवास योजना में जुड़वाए ताकि उन्हें फायदा मिल सके।

15. जो बुड्ढे है और जिनके पेंशन आती है वो अपने पेंशन की राशि समय समय पर खाते से निकालते रहे पेंशन धारक की मृत्यु हो जाने पर उसके खाते में जमा हुई पेंशन वापिस सरकार में जमा करवानी पड़ती है वो पैसा कोई दूसरा नही उठा सकता और अगर कैसे भी करके उठाता भी है तो भविष्य में वापिस ब्याज सहित जमा करवाना होता है।

16. जिस किसी भाई के एटीएम है वो अपने एटीएम से नियमित अंतराल में ट्रांसेक्शन करता रहे ताकि उसमें दुर्घटना बीमा होता है वो दुर्घटना के समय क्लेम करने के लिए जरूरी होता है ।

17. जिनके बैंक में खाता है वो अपने खाते में प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा योजना का फॉर्म भर करके दे और 12 रुपये 330 रुपये ओर 500 रुपये प्रति वर्ष में एक अच्छा दुर्घटना बीमा ले सकते है ।

18. जिनके बेटियां है और उनका जन्म 2010 या उसके बाद में हुआ है वो अपने बेटियों के लिए सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवा कर एक तय राशि हर माह जमा करवा सकते है इसमे 14 वर्ष तक पैसे भर कर 21 वर्ष बाद पैसे मिलेंगे जो लड़की के काम आते है ।

19. जो म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्टमेंट करने के इच्छुक है वो SBI ओर अन्य बैंकों से SIP (स्माल इन्वेस्टमेंट प्लान )ले सकते है इसकी जानकारी अपनी बैंक  ब्रांच में जाकर ले सकते है ।

20. गरीब परिवार वाले अपने बच्चों को महंगे privet school में निःशुल्क एडमिशन कराये। R.T.E. योजना में।

कृपया करके यह जानकारी जरूरमंद तक पहुँचावे ताकि वो सरकारी फायदे से वंचित ना रहे🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻


🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🌹🌹🌹🌹






What We Indian Needs to Know Today

What We Indian Needs to Know Today 
https://bit.ly/3hKt3nQ



Sunday, 30 August 2020

Nature is also the biggest wealth man has earned

Nature is also the 
biggest wealth man has earned.
No matter how far away 
from anyone,
But because of 
good nature
You come in memories 
at some point or the other.

स्वभाव भी इंसान की अपनी 
कमाई हुई सबसे बड़ी दौलत है...
कितना भी किसी से दूर हों,  
पर अच्छे स्वभाव के कारण 
आप किसी न किसी पल 
यादों में आ ही जाते हो।
https://crazy-guru.anxietyattak.com/2020/08/nature-is-also-biggest-wealth-man-has.html

A Counselor's Appointment

डिप्रेशन ग्रस्त एक सज्जन जब 50+ के हुए थे...तो उनकी पत्नी ने एक काउंसलर का अपॉइंटमेंट लिया... और बताया कि इन सब के कारण मैं भी ठीक नही हूँ.*
अब उन्होनें काउंसलिंग शुरू की. 
फिर कुछ पर्सनल बातें भी पूछीं और सज्जन की पत्नी को बाहर बैठने को कहा.

When a Gentleman Mr Sajjan suffering from depression was 50+ ... 
his wife took a Counselor's Appointment ... and told that I am not well because of all this. *
Now he started counseling. Then Dr  asked some personal things and asked the Gentleman's wife to sit outside.

The gentleman went on speaking…
I am very much worried...
Tainted with worries… job pressure…
Children's education and job stress ...
Home loan ...
Car loan ...
Nothing feels like ...
.
The world understands the cannon ... but I do not have as much cartridge.
.
I am in depression ...
Saying this, he opened the book of his whole life.
.
Then the scholar counselor thought something and asked .... In which school did you study in class 10?
.
Sajjan told him the name of the school ...
.
The counselor said that you have to go to that school…
.
Bring all the registers of your tenth class from there.
.
Sajjan went to school ... brought the register. The counselor said that write the names of your colleagues and find them and try to get information about their current situation. Writing all the information in the diary and getting it after one month.
.
4 registers in total ...
Which had 200 names… and traveled all day and night throughout the month…
Barely able to gather information about his 120 classmates.
.
Surprisingly 20% of them were dead.
.
7% of the girls were widowed and 13 divorced or separated.
5% were intoxicated who were not even fit to talk.
20% did not know where they are now.
15% are so poor that don't ask ...
5% turned out to be so rich.

Some cancer sufferers, 6-7% were paralyzed, diabetic, asthma or heart patients, 3-4% were in bed with injuries to their hands/feet or spinal cord.
.
2 to 3% of children are insane ... Vegabond ...
Or turned out to be worthless.
1 was in jail too  ...
And one settled at the age of 50 so now wanted to marry ...
.
1 was still not settling but despite two divorces, was in the third marriage ...
.
Throughout the month ...
All the registers of class X were telling themselves the fate of fate ...
.
The counselor asked, now tell me how is depression?
.
This gentleman understood that he does not have any disease ... He is not dying of hunger, his mind is right, he was not brought up by the court police-lawyers ... His wife and children are very good, he is healthy, he is Is also healthy. The doctor was not brought up from the hospital.
.
He realizes that there are really many sorrows in the world… and I am very happy and lucky…
.
Two things have been decided today… whether Dhirubhai Ambani becomes or not to be right… and does not die of hunger… Do not spend ill in bed… Do not count days in jail, then the above for this beautiful life It is best to thank.
.
Do you also feel that you are in depression?


* If you feel this way, then you should also go to your school and get the register of class X.



सज्जन बोलते गए... 
बहुत परेशान हूँ... 
चिंताओं से दब गया हूँ... नौकरी का प्रेशर... 
बच्चों के एजूकेशन और जॉब की टेंशन... 
घर का लोन... 
कार का लोन... 
कुछ मन नही करता...
.
दुनियाँ तोप समझती है... पर मेरे पास कारतूस जितना भी सामान नही.
.
मैं डिप्रेशन में हूँ... 
कहते हुये पूरे जीवन की किताब खोल दी.
.
तब विद्वान काउंसलर ने कुछ सोचा और पूछा.... दसवीं (Class-10) में किस स्कूल में पढ़ते थे?
.
सज्जन ने उन्हे स्कूल का नाम बता दिया...
.
काउंसलर ने कहा आपको उस स्कूल में जाना होगा...
.
वहाँ से आपकी दसवीं क्लास के सारे रजिस्टर लेकर आना. 
.
सज्जन स्कूल गए... रजिस्टर लाये. काउंसलर ने कहा कि अपने साथियों के नाम लिखो और उन्हें ढूंढो और उनके वर्तमान हालचाल की जानकारी लाने की कोशिश करो. सारी जानकारी को डायरी में लिखना और एक माह बाद मिलना.
.
कुल 4 रजिस्टर... 
जिसमें 200 नाम थे... और महीना भर दिन रात घूमे... 
बमुश्किल अपने 120 सहपाठियों के बारे में जानकारी एकत्रित कर पाए.
.
आश्चर्य उसमें से 20% लोग मर चुके थे.
.
7% लड़कियाँ विधवा और 13 तलाकशुदा या सेपरेटेड थीं. 
15% नशेडी निकले जो बात करने के भी लायक़ नहीं थे. 
20% का पता ही नहीं चला कि अब वो कहाँ हैं. 
5% इतने ग़रीब निकले की पूछो मत... 
5% इतने अमीर निकले की पूछे नहीं.
.
कुछ केन्सर ग्रस्त, 6-7% लकवा, डायबिटीज़, अस्थमा या दिल के रोगी निकले, 3-4% का एक्सीडेंट्स में हाथ/पाँव या रीढ़ की हड्डी में चोट से बिस्तर पर थे
.
2 से 3% के बच्चे पागल... वेगाबॉण्ड... 
या निकम्मे निकले. 

1 जेल में था... 
और एक 50 की उम्र में सैटल हुआ था इसलिए अब शादी करना चाहता था...
.
1 अभी भी सैटल नहीं था पर दो तलाक़ के बावजूद तीसरी शादी की फ़िराक़ में था...
.
महीने भर में... 
दसवीं कक्षा के सारे रजिस्टर भाग्य की व्यथा ख़ुद सुना रहे थे...
.
काउंसलर ने पूछा कि अब बताओ डिप्रेशन कैसा है?
.
इन सज्जन को समझ आ गया कि उसे कोई बीमारी नहीं है... वो भूखा नहीं मर रहा, दिमाग एकदम सही है, कचहरी पुलिस-वकीलों से उसका पाला नही पड़ा... उसके बीवी-बच्चे बहुत अच्छे हैं, स्वस्थ हैं, वो भी स्वस्थ है. डाक्टर अस्पताल से पाला नहीं पड़ा.
.
उन्होंने रियलाइज किया कि दुनियाँ में वाक़ई बहुत दुख: हैं... और मैं बहुत सुखी और भाग्यशाली हूँ... 
.
दो बात तय हुईं आज कि... धीरूभाई अम्बानी बनें या न बनें न सही... और भूखा नहीं मरे... बीमार बिस्तर पर न गुजारें... जेल में दिन न गिनना पड़े तो इस सुंदर जीवन के लिए ऊपर वाले को धन्यवाद देना ही सर्वोत्तमः है.
.
क्या आपको भी लगता है कि आप डिप्रेशन में हैं?

*अगर आप को भी ऐसा लगता है तो आप भी अपने स्कूल जाकर दसवीं कक्षा का रजिस्टर ले आयें..



Please See and Share If You are a Human

ये वीडियो को जितना हो सके उतना आगे भेजे कल आप भी हो सकते है इनकी जगह सोच कर समझ कर देखिए 🙏🙏प्लीज़👇👇👇👇👇👇👇👇 देखकर इस वीडियो नजर अंदर मस्त नजर अंदाज मत करना इसको आगे शेयर करना ये हालत है भाई के साथ हुई है क्या पता आगे क्या होगा आगे शेयर करो और इस वीडियो को जरूर देखो अगर आपके पास एमबी नहीं है तो वाईफाई यूज करके देखो इस वीडियो को
👇👇👇👇👇👇👇👇
https://bit.ly/2G4Z38g



https://crazy-guru.anxietyattak.com/2020/08/new-aircrafts-for-pm-and-cm.html


Analysis of 'Farameishi' Interview on News Channel

देखिए #DNA LIVE @sudhirchaudhary के साथ
Watch #DNA LIVE with @sudhirchaudhary
+ Analysis of 'Farameishi' Interview on News Channel
Welcome to 'TV Era' of + TV Interview!
Has journalism also become acting?
+ DNA test of 'vote interest' hidden in protest

The Opposition failed in + students' exam!

Open here 

TV Era' of + TV Interview



Samples of Farameishi' Interview on News Channel


Sample 001 




+ न्यूज़ चैनल पर 'फरमाइशी' इंटरव्यू का विश्लेषण
+ TV इंटरव्यू के 'फरमाइशी युग' में स्वागत है !
+ क्या पत्रकारिता भी अभिनय बन गयी है ?
+ विरोध में छिपे 'वोट हित' का DNA टेस्ट
+ छात्रों की 'परीक्षा' में विपक्ष फेल ! https://twitter.com/i/broadcasts/1LyxBaEgPrMJN

Sample 002


https://twitter.com/i/broadcasts/1LyxBaEgPrMJN

Saturday, 29 August 2020

Function and Structure of Mantras Main Function of Mantras is to Solemnize and Ratify Rituals

Function and Structure of   Mantras
Main Function of Mantras is to Solemnize and Ratify Rituals
मंत्रों की क्रिया और संरचना
मंत्रों का एक कार्य कर्मकांडों को करना और उनकी पुष्टि करना है। 
Action and structure of mantras
One of the Mantras is to perform rituals and to confirm them.


In Vedic rituals each mantra is combined with an act. According to the Apastamba Shruta Sutra, each ritual act is accompanied by a mantra, unless the sutra clearly marks that a mantra corresponds to several mantras. According to Gonda, and others, there is a connection and justification between a Vedic mantra and each Vedic ritual that accompanies it. In these cases, the function of the mantra was to be an instrument of ritual efficacy for the priest, and a tool of instruction for a ritual act for others.

Over time, as the Puranas and epics were composed, concepts of worship, virtues and spirituality evolved in Hinduism. Religions such as Jainism and Buddhism were disbanded, and new schools were established, each of which developed and refined its own mantras. In Hinduism, suggests Alpar, the work of mantras shifted from quidian to redemptive. In other words, in the Vedic period, mantras were intended as a practical, quotable goal, such as requesting the help of a deity in search of lost cattle, curing illness, succeeding in competitive sport, or Traveling away from home. The literal translation of the Vedic mantras suggests that the task of the mantra was, in these cases, to deal with the uncertainties and dilemmas of daily life. In the later times of Hinduism, [43] mantras were intended for a transcendental redemption, such as avoiding the cycle of life and rebirth, forgiving for bad deeds and experiencing a spiritual connection with God. In these cases, the task of the mantras was to confront the human condition as a whole. According to Alper, redemption spiritual mantras opened the door to mantras where every part is not literally interpreted, but their resonance and musical quality together aided the traditional spiritual process. Overall, Espar explains, using explainsivas explainstra mantras as an example, Hindu mantras have philosophical themes and metaphors with social dimension and meaning; In other words, they are spiritual language and tools of thought.

According to Staal, Hindu mantras can be spoken aloud, Anirukta (not cognizant), Apasamu (inaudible), or Mansa (not spoken, but recited in the mind). In ritual, mantras are often silent tools of meditation.

Examples

The most basic mantra is Om, known in Hinduism as the "Pranava Mantra", the source of all mantras. The Hindu philosophy behind this is the premise that existence before and beyond existence is only a reality, Brahma, and the first manifestation of Brahma expressed as Om. For this reason, Om is considered a fundamental idea and reminder, and thus is the prefix and suffix for all Hindu prayers. While some mantras may invite different deities or principles, basic mantras, such as 'Shanti Mantra,' Gayatri Mantra and others ultimately focus on one reality.

Tantric school

The universe is sound in the Tantric school. The Supreme (Para) brings forth existence through the word (Shabda). In creation there is vibration in various frequencies and dimensions that give rise to world events.

Buhnemann note that deity mantras are an essential part of the Tantric compilation. Tantric mantras differ in their structure and length. Mala mantras are those spells which are very large in number. In contrast, Bija mantras are a syllable, usually ending in anusvara (a simple nasal sound). They are derived from the name of a deity; For example, Durga yields dum and Ganesha produces gum. Beeja mantras are associated with prefixes and other mantras, creating complex spells. In the Tantric Pathshala, these mantras have supernatural powers, and are transmitted through a ritual to a disciple in an initiation ritual. Tantric mantras found a significant audience and adaptation in medieval India, Hindu Southeast Asia, and many Asian countries with Buddhism.

Mazumdar and other scholars suggest that mantras are central to a Tantric school with many functions. From initiation and liberation of the Tantric devotee to worshiping manifest forms of the divine. Acquiring supernatural psychological and spiritual power ranging from enabling sexual energy growing in man and woman. From preventing evil influences to ghosts and many more. These claimed works and other aspects of tantric mantra are the subject of controversy among scholars.

Tantra usage is not unique to Hinduism: it is also found in Buddhism both inside and outside India.

वैदिक अनुष्ठानों में प्रत्येक मंत्र को एक अधिनियम के साथ जोड़ा जाता है। आपस्तम्बा श्रुत सूत्र के अनुसार, प्रत्येक अनुष्ठान अधिनियम एक मंत्र के साथ होता है, जब तक कि सूत्र स्पष्ट रूप से चिह्नित नहीं करता है कि एक मंत्र कई मंत्रों से मेल खाता है। गोंडा, और अन्य के अनुसार, एक वैदिक मंत्र और इसके साथ होने वाले प्रत्येक वैदिक अनुष्ठान के बीच एक संबंध और औचित्य है। इन मामलों में, मंत्र का कार्य पुजारी के लिए अनुष्ठान प्रभावकारिता का एक साधन होना था, और दूसरों के लिए एक अनुष्ठान अधिनियम के लिए निर्देश का एक उपकरण था।
समय के साथ, जैसा कि पुराणों और महाकाव्यों की रचना की गई थी, हिंदू धर्म में पूजा, सद्गुणों और आध्यात्मिकता की अवधारणाएं विकसित हुईं। जैन धर्म और बौद्ध धर्म जैसे धर्मों को तोड़ दिया गया, और नए स्कूलों की स्थापना की गई, जिनमें से प्रत्येक ने अपने स्वयं के मंत्रों को विकसित और परिष्कृत किया। हिंदू धर्म में, अल्पर का सुझाव देता है, मंत्रों के कार्य को क्विडियन से रिडेम्प्टिव में स्थानांतरित किया गया। दूसरे शब्दों में, वैदिक काल में, मंत्रों को इरादे के रूप में एक व्यावहारिक, उद्धरणीय लक्ष्य बताया गया था, जैसे कि खोए हुए मवेशियों की खोज में एक देवता की मदद का अनुरोध करना, बीमारी का इलाज करना, प्रतिस्पर्धी खेल में सफल होना या घर से दूर यात्रा करना। वैदिक मंत्रों का शाब्दिक अनुवाद बताता है कि मंत्र का कार्य, इन मामलों में, दैनिक जीवन की अनिश्चितताओं और दुविधाओं से निपटना था। हिंदू धर्म के बाद के समय में, [४३] मंत्रों का आशय एक पारमार्थिक छुटकारे के उद्देश्य से दिया गया था, जैसे कि जीवन और पुनर्जन्म के चक्र से बचना, बुरे कर्मों के लिए क्षमा करना और भगवान के साथ आध्यात्मिक संबंध का अनुभव करना। इन मामलों में, मंत्रों का कार्य, संपूर्ण रूप से मानव स्थिति का सामना करना था। अल्पर के अनुसार, मोचन आध्यात्मिक मंत्रों ने मंत्रों के लिए दरवाजा खोल दिया जहां हर भाग का शाब्दिक अर्थ नहीं है, लेकिन साथ में उनके अनुनाद और संगीत की गुणवत्ता ने पारम्परिक आध्यात्मिक प्रक्रिया में सहायता की। कुल मिलाकर, एस्पर बताते हैं, एक उदाहरण के रूप में explainsivas explainstra मंत्रों का उपयोग करते हुए, हिंदू मंत्रों में दार्शनिक विषय हैं और सामाजिक आयाम और अर्थ के साथ रूपक हैं; दूसरे शब्दों में, वे आध्यात्मिक भाषा और विचार के साधन हैं।
स्टाल के अनुसार, हिंदू मंत्रों को जोर से बोला जा सकता है, अनिरूक्त (अभिज्ञ नहीं), अपसमू (अश्रव्य), या मनसा (न बोला जाता है, बल्कि मन में सुनाया जाता है)। अनुष्ठान में, मंत्र अक्सर ध्यान के मूक उपकरण होते हैं।
उदाहरण
सबसे मूल मंत्र ओम है, जिसे हिंदू धर्म में "प्रणव मंत्र" के रूप में जाना जाता है, जो सभी मंत्रों का स्रोत है। इसके पीछे हिंदू दर्शन यह आधार है कि अस्तित्व से पहले और परे अस्तित्व केवल एक वास्तविकता है, ब्रह्म, और ओम के रूप में व्यक्त ब्रह्म की पहली अभिव्यक्ति। इस कारण से, ओम को एक मौलिक विचार और अनुस्मारक माना जाता है, और इस प्रकार सभी हिंदू प्रार्थनाओं के लिए उपसर्ग और प्रत्यय है। जबकि कुछ मंत्र अलग-अलग देवताओं या सिद्धांतों, मूल मंत्रों को आमंत्रित कर सकते हैं, जैसे 'शांति मंत्र,' गायत्री मंत्र और अन्य सभी अंततः एक वास्तविकता पर ध्यान केंद्रित करते हैं।
तांत्रिक विद्यालय
तांत्रिक विद्यालय में ब्रह्मांड ध्वनि है। सर्वोच्च (पैरा) शब्द (शबदा) के माध्यम से अस्तित्व को सामने लाता है। सृजन में दुनिया की घटनाओं को जन्म देने वाली विभिन्न आवृत्तियों और आयामों में कंपन होता है।
Buhnemann ध्यान दें कि देवता मंत्र तांत्रिक संकलन का एक अनिवार्य हिस्सा हैं। तांत्रिक मंत्र उनकी संरचना और लंबाई में भिन्न होते हैं। माला मंत्र वे मंत्र होते हैं जिनकी संख्या बहुत अधिक होती है। इसके विपरीत, बीजा मंत्र एक शब्दांश हैं, जो आमतौर पर अनुस्वार (एक साधारण नाक ध्वनि) में समाप्त होते हैं। ये एक देवता के नाम से प्राप्त हुए हैं; उदाहरण के लिए, दुर्गा ने डम और गणेश ने गम की पैदावार की। बीजा मंत्रों को उपसर्ग और अन्य मंत्रों से जोड़ा जाता है, जिससे जटिल मंत्र बनते हैं। तांत्रिक पाठशाला में, इन मंत्रों में अलौकिक शक्तियाँ होती हैं, और इन्हें एक अनुष्ठान के द्वारा एक शिष्य को दीक्षा अनुष्ठान में प्रेषित किया जाता है। तांत्रिक मंत्रों ने मध्यकालीन भारत, हिंदू दक्षिण पूर्व एशिया और बौद्ध धर्म के साथ कई एशियाई देशों में एक महत्वपूर्ण दर्शक और अनुकूलन पाया।
मजूमदार और अन्य विद्वानों का सुझाव है कि मंत्र कई कार्यों के साथ तांत्रिक विद्यालय के लिए केंद्रीय हैं। तांत्रिक भक्त की दीक्षा और मुक्ति से लेकर परमात्मा के प्रकट रूपों की पूजा करना। पुरुष और महिला में बढ़ रही यौन ऊर्जा को सक्षम करने से लेकर अलौकिक मनोवैज्ञानिक और आध्यात्मिक शक्ति प्राप्त करना। दुष्ट प्रभावों को रोकने से लेकर भूतों और कई अन्य लोगों तक। ये दावा किए गए कार्य और तांत्रिक मंत्र के अन्य पहलू विद्वानों के बीच विवाद का विषय हैं।

तंत्र प्रयोग हिंदू धर्म के लिए अद्वितीय नहीं है: यह भारत के अंदर और बाहर दोनों जगह बौद्ध धर्म में भी पाया जाता है।


Friday, 28 August 2020

It Is Your Life

Rikkee Mishra 
Director
Asiatic International Business Academy

Keep your thoughts Positive and be Happy

When a Prisoner was sentenced to death in America, some scientists there thought that some experiments should be done on this prisoner.
Then the prisoner was told that he would slay him with poisonous cobra ...
A large poisonous snake was brought in front of him and the prisoner was blindfolded and tied on a chair.

He was given a safety pin by not getting bitten by a snake.

Surprise prisoner died in 2 seconds

Post-mortem report in prisoner's body

"Venom Sadushyam"  Poison found.

Where did this poison come from which the prisoner died?

He produced this poison due to mental shock in the prisoner's body.

This means that according to our own mental state, Positive or Negative

Energy is produced accordingly HARMONES are produced in our body.

90% root cause of disease

Negative thoughts have to be generated.

Today man is destroying himself by making false thoughts.

According to my opinion, do not apply corona in your mind.

People from 5 years to 100 years have also been cured.

Don't go over the figures, more than half of the people are organized,

Those who died were not just due to corona but they also had other diseases, which they could not cope with.

 Remember that no one died at home due to corona, everyone died in the hospital.

Due to the hospital environment and fear of mind.

Keep your thoughts Positive and be Happy.


Take care of all the precautions related to corona, eat well, sleep on time, maintain self-confidence, exercise and keep faith in mind.



अमेरीका में एक कैदी को जब फांसी की सजा सुनाई ,तब वहा के कुछ वैज्ञानिकों ने विचार किया की इस कैदी पर कुछ प्रयोग किये जाये ..

तब उस कैदी को बोला गया कि उसे विषधर कोब्रा से डसवा कर मारेंगे...

उसके सामने एक बड़ा विषधर सांप लाया तथा कैदी की आँखो पर पट्टी बांध कर कुर्सी पर बाँध दिया गया 
उसे साँप से ना डसवा कर सेफ्टी पिन चुभाई गई।
आश्चर्य की कैदी की २ सेकंड मे मौत हो गई
पोस्टमार्टम रिपोर्ट मे कैदी के शरीर मे 
"व्हेनम सदु्श्यम" विष मिला ।
ये विष कहाँ से आया जिससे कैदी की मृत्यु हुई ?
ये विष कैदी के शरीर मे मानसिक धक्के की वजह से उसने ही उत्पन्न किया था।
तात्पर्य ये है कि हमारी अपनी मानसिक स्थिति के अनुसार Positive अथवा Negative
एनर्जी उत्पन्न होती है  तद्नुसार ही हमारे शरीर मे HARMONES पैदा होते है ।

90% बीमारी का मूल कारण 
नकारात्मक विचार उर्जा का उत्पन्न होना है।
आज मनुष्य गलत विचारों का भस्मासुर बना कर खुद का विनाश कर रहा है ।
मेरे मतानुसार कोरोना को मन से ना लगाएं ।
5 वर्ष से लेकर 100 वर्ष तक के लोग भी ठीक हो गये है ।
आकड़ों पर ना जावे , आधे से ज्यादा लोग व्यवस्थित है,
मृत्यु पाने वाले केवल कोरोना की वजह से नहीं बल्कि उन्हे अन्य बीमारियाँ भी थी, जिसका मुकाबला वे कर नहीं सके ।

 ये याद रखे कोरोना की वजह से कोई भी घर पर नही मरा सबकी मृत्यु अस्पताल मे ही हुई
कारण अस्पताल का वातावरण एवं मन का भय ।

अपने विचार सकारात्मक रखे ओर आनंद से रहे।

कोरोना से जुड़ीं सारी सावधानियों का ख्याल रखें, अच्छा खाएं, समय पर सोएं, आत्मबल बनाये रखें , व्यायाम करें और  मन  में आस्था रखें ।

Ruckus among Private School Operators

स्कूल संचालकों की तुलना गुंडों और डाकुओं तक से कर डाली
The School is closed due to Corona Pandemic but fees continue to be collected in the name of the online class. There are frequent cases of schools pressuring parents for fees. In such a situation, after a Video went viral, there has been a Ruckus among Private School Operators. The video is not of any parent but of a private school operator himself who compared other school operators to goons and bandits. It is worth mentioning that the said operator has claimed to waive
Rs 60 Lakhs for the Annual Fees
of 600 children.
https://bit.ly/32yLDsJ

कोरोना महामारी के चलते स्कूल बंद है लेकिन ऑनलाइन क्लास के नाम पर फीस वसूली जारी है। स्कूलों द्वारा फीस के लिए पालकों पर दबाव बनाने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। ऐसे में एक वीडियो वायरल होने के बाद निजी स्कूल संचालकों में गहमागहमी शुरू हो गई है। यह वीडियो किसी पालक का नहीं बल्कि खुद एक निजी स्कूल संचालक का है जिसने अन्य स्कूल संचालकों की तुलना गुंडों और डाकुओं तक से कर डाली। गौरतलब है कि उक्त संचालक ने 600 बच्चों की सालाना फीस के 60 लाख रुपए माफ़ करने का दावा किया है।
https://bit.ly/32yLDsJ

United India


Granny's Simple Kitchen Food is still a Best Health solution

"Healthy Food"  
The Most Trending Word of Social Media & Billion $ Global Industry..!❤
Be it,
#Quinoa,
#Pumpkim/Chea/Sunflower Seeds,
#Soya Milk,
#Almond Milk,
#Greek Yogurt,
#Oats,
#Gluton Free Cookies,
#Green Tea,
#Protein bars,
#Energy drinks...!
Terminologies like-
#"Baked not Fried"
#"Low Cal"
#"Air fried not Deep-fried"
#"No Trans Fat"
#"Immunity Booster"
Is this All just a Hype or is there Medico Science behind it?😳
Or Perhaps, 
Our Granny's Simple Kitchen Food is still a Best Health solution?😎
https://crazy-guru.anxietyattak.com/2020/08/grannys-simple-kitchen-food-is-still.html

Please See the Video and Open ur Eyes





#health #food #drink #immunity #fat #protein #carbs #weights #slim #body #tea #sugar #chips #vegetable #oats


"स्वस्थ भोजन"
सोशल मीडिया और बिलियन $  ग्लोबल इंडस्ट्री का सबसे ट्रेंडिंग शब्द ..!


#Quinoa,
# कद्दू / मटर / सूरजमुखी के बीज,
#सोया दूध,
#बादाम का दूध,
#ग्रीक दही,
#जई,
• ग्लूटन फ्री कुकीज़,
•हरी चाय,
• प्रोटीन बार,
•ऊर्जा प्रदान करने वाले पेय...!
शब्दावली जैसे-
# "बेक्ड फ्राइड नहीं"
# "लो कैल"
# "एयर फ्राइड नहीं डीप-फ्राइड"
# "नो ट्रांस फैट"
# "इम्यूनिटी बूस्टर"
क्या यह सब सिर्फ एक प्रचार है या इसके पीछे मेडिको साइंस है? 
या शायद,
हमारे दादी के साधारण रसोई भोजन अभी भी एक सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य समाधान है? 


आज हमारे दूध वाले ने पूछा- 
कल से आपके लिये  #Immunity #Booster दूध लाऊ?
मगर 10 रु० प्रति लीटर ज्यादा देने होंगे।

मैंने आश्चर्य से सवाल किया - अरे, ये कैसा दूध है?

ऐसी गाय 🐂 का दूध जिसे हम 
रोज़ नींबू 🍋और संतरा 🍊खिलाते हैं। 
ताकि दूध में #Vitamin C मिले। 

रोज सुबह 1 घंटा धूप ☀️में खडी रखते हैं 
ताकि उसके दूध में #VitaminD भी हो।

साथ ही चारे के साथ 
#पालक,  #तुलसी, #गिलोय 
भी मिलाया जाता है।
😂😂😂

भाई, तू ही रह गया था... तू भी लूट ले..!
😠😤 





Thursday, 27 August 2020

Story

कहानी
Story

It was late in the evening .. It was almost half past six .. The same hotel, the same side table and the same tea, with a puff of cigarettes… cigarette and sipping a cup of tea.

At the same time, a man sat at the front table with his nine-ten-year-old girl.

The man's shirt was torn, the top two buttons were missing. The pants too were sloppy, looking like a digger on the way.

The girl's frock was washed and she also wore a hair dye

Her face was very blissful and she was watching the entire hotel from here and there with great curiosity.

She was also repeatedly watching the fan running above her table, which was giving them cool air ..

She looked even happier sitting on a cushioned chair to sit on ..

At the same time the waiter put cold water in front of him in two clean glasses ..

The man ordered a dosa for his girl.

Hearing this order, the delight of the girl's face increased further ..

And for you? The waiter asked ..

No, I don't want anything: the man said.

In no time, the hot big one, the inflated dosa came, along with the sauce and sambhar ..
The girl got busy eating dosa. And looking at him curiously, he was drinking water ..

Then his phone rang. Same old phone. His friend got a call, he was telling that today is his girl's birthday and he has come to the hotel with her ..
He was telling that he had told his girl that if she would bring the first number to her school, he would feed her a dosa on her birthday ..

And she is eating dosa now ..

Some pause ..

No, how can we both eat? Where do we have this much money? Besan rice is made at home for me, is it not?

Due to being busy with his talk, I got hot tea and I returned to reality ..

No matter what ..
Both rich or poor can do anything to see the smile on their daughter's face ..

I got up and went to the counter and gave my tea and two dosas and gave the man another dosa, if he asked about the money, then tell him that we heard your words today is your daughter's birthday and that school I came in first number ..

Therefore, it is a reward for your girl from Hotell to speak to her for further better studies ..

But, do not forget to use the word "free" even if you forget, it will hurt the "self-respect" of that father.



The hotel manager smiled and said that this girl and her father are our guests today, thank you very much that you made us aware of this.

The entire responsibility of his hospitality is ours today. You will do this for pious work and any other needy.



The waiter put another dosa on the table, I was watching from outside ..



The girl's father was shocked and said that I had spoken the same dosa ..



Then the manager said, hey your girl has come first in school ..

So in the prize today, both of you are being given a dosa by Hotel,



The father's eyes filled up and he told his girl, "Look, if the daughter studies like this, see what you will get."



The father asked the waiter if I could get this dosa in a Parcel ?

If I took it home, both my wife and I would eat half-and-half together, she wouldn't get to eat it like that ...

No sir, eat your second dosa here.


I have made 3 dosas and a pack of sweets separately for your home.

Today you will go home and celebrate your daughter's birthday with great pomp and sweets so that you can distribute the whole locality.

Hearing this, my eyes were filled with joy,

I became convinced that wherever there is a will there is a way….

 Take a step forward for good work,


Then see what happens next !!




शाम हो चली थी.. लगभग साढ़े छह बजे थे.. वही हॉटेल, वही किनारे वाली टेबल और वही चाय, सिगरेट..सिगरेट के एक कश के साथ साथ चाय की चुस्की ले रहा था।

उतने में ही सामने वाली टेबल पर एक आदमी अपनी नौ-दस साल की लड़की को लेकर बैठ गया।

उस आदमी का शर्ट फटा हुआ था, ऊपर की दो बटने गायब थी. पैंट भी मैला ही था, रास्ते पर खुदाई का काम करने वाला मजदूर जैसा लग रहा था।

लड़की का फ्रॉक धुला हुआ था और उसने बालों में वेणी भी लगाई हुई था
उसके चेहरा अत्यंत आनंदित था और वो बड़े कुतूहल से पूरे हॉटेल को इधर-उधर से देख रही थी..
उनके टेबल के ऊपर ही चल रहे पँखे को भी वो बार-बार देख रही थी, जो उनको ठंडी हवा दे रहा था..

बैठने के लिये गद्दी वाली कुर्सी पर बैठकर वो और भी प्रसन्न दिख रही थी..

उसी समय वेटर ने दो स्वच्छ गिलासों में ठंडा पानी उनके सामने रखा..

उस आदमी ने अपनी लड़की के लिये एक डोसा लाने का आर्डर दिया.
यह आर्डर सुनकर लड़की के चेहरे की प्रसन्नता और बढ़ गई..

और आपके लिए? वेटर ने पूछा..

नहीं, मुझे कुछ नहीं चाहिये: उस आदमी ने कहा.

कुछ ही समय में गर्मागर्म बड़ा वाला, फुला हुआ डोसा आ गया, साथ में चटनी-सांभार भी..

लड़की डोसा खाने में व्यस्त हो गई. और वो उसकी ओर उत्सुकता से देखकर पानी पी रहा था..

इतने में उसका फोन बजा. वही पुराना वाला फोन. उसके मित्र का फोन आया था, वो बता रहा था कि आज उसकी लड़की का जन्मदिन है और वो उसे लेकर हॉटेल में आया है..

वह बता रहा था कि उसने अपनी लड़की को कहा था कि यदि वो अपनी स्कूल में पहले नंबर लेकर आयेगी तो वह उसे उसके जन्मदिन पर डोसा खिलायेगा..

और वो अब डोसा खा रही है..
थोडा पॉज..

नहीं रे, हम दोनों कैसे खा सकते हैं? हमारे पास इतने पैसे कहां है? मेरे लिये घर में बेसन-भात बना हुआ है ना..

उसकी बातों में व्यस्त रहने के कारण मुझे गर्म चाय का चटका लगा और मैं वास्तविकता में लौटा..

कोई कैसा भी हो..
अमीर या गरीब,दोनों ही अपनी बेटी के चेहरे पर मुस्कान देखने के लिये कुछ भी कर सकते हैं..

मैं उठा और काउंटर पर जाकर अपनी चाय और दो दोसे के पैसे दिये और कहा कि उस आदमी को एक और डोसा दे दो, उसने अगर पैसे के बारे में पूछा तो उसे कहना कि हमनें तुम्हारी बातें सुनी आज तुम्हारी बेटी का जन्मदिन है और वो स्कूल में पहले नंबर पर आई है..
इसलिये हॉटेल की ओर से यह तुम्हारी लड़की के लिये ईनाम उसे आगे चलकर इससे भी अच्छी पढ़ाई करने को बोलना..
परन्तु, परंतु भूलकर भी "मुफ्त" शब्द का उपयोग मत करना, उस पिता के "स्वाभिमान" को चोट पहुचेंगी..

होटल मैनेजर मुस्कुराया और बोला कि यह बिटिया और उसके पिता आज हमारे मेहमान है, आपका बहुत-बहुत आभार कि आपने हमें इस बात से अवगत कराया।
उनकी आवभगत का पूरा जिम्मा आज हमारा है आप यह पुण्य कार्य और किसी अन्य जरूरतमंद के लिए कीजिएगा।

वेटर ने एक और डोसा उस टेबल पर रख दिया, मैं बाहर से देख रहा था..

उस लड़की का पिता हड़बड़ा गया और बोला कि मैंने एक ही डोसा बोला था..

तब मैनेजर ने कहा कि, अरे आपकी लड़की स्कूल में पहले नंबर पर आई है..
इसलिये ईनाम में आज हॉटेल की ओर से आप दोनों को डोसा दिया जा रहा है,

उस पिता की आँखे भर आई और उसने अपनी लड़की को कहा, देखा बेटी ऐसी ही पढ़ाई करेंगी तो देख क्या-क्या मिलेगा..

उस पिता ने वेटर को कहा कि क्या मुझे यह डोसा बांधकर मिल सकता है?
यदि मैं इसे घर ले गया तो मैं और मेरी पत्नी दोनों आधा-आधा मिलकर खा लेंगे, उसे ऐसा खाने को नहीं मिलता...

जी नहीं श्रीमान आप अपना दूसरा डोसा यहीं पर खाइए।
आपके घर के लिए मैंने 3 डोसे और मिठाइयों का एक पैक अलग से बनवाया है।

आज आप घर जाकर अपनी बिटिया का बर्थडे बड़ी धूमधाम से मनाइएगा और मिठाईयां इतनी है कि आप पूरे मोहल्ले को बांट सकते हो।

यह सब सुनकर मेरी आँखे खुशी से भर आई,
मुझे इस बात पर पूरा विश्वास हो गया कि जहां चाह वहां राह है....
 अच्छे काम के लिए एक कदम आप आगे तो बढ़ाइए,
फिर देखिए आगे आगे होता है क्या!!

👌👌👌🙏🏻🙏🏻🙏🏻😊☺

Free Advice from the Doctor

🙏
एक डॉक्टर साहब एक पार्टी में गये !! 
A Big Doctor went to a party !!

People surrounded him by finding a reputed Doctor of the city among them !!

Someone had a cold!
So gas in someone's stomach!
Seek all free opinions
Were in the affair!
Dr Did  not refuse anyone, due to courtesy  

A Famous Lawyer of the city was also present in that party !!

On getting the opportunity, Dr. Saheb reached the lawyer and he Taking it aside, he said -
Dear  Friend ! I am so upset !!

Everyone is in the habit of getting treatment for free here!
Do you also find such people?

Lawyer - Indeed  a lot !!

Doctor sir - then how do you deal with it?

Lawyer -
Is a very simple method!

I recommend them as they want!

Later,  I will send the bill to their house.

This thing got frozen to Doctor Saheb!

The next day He also made bills of some people found in the party

And was about to send them when his servant came in
And said -
Dr Sir, someone wants to meet you !!

Doctor Sir -
Who is that ?

Servant - Lawyer's  Peon!
Says ..
Last night at the party  👇

You took Free Advice from the Lawyer, 

his bill has come !!!!



अपने बीच शहर के
एक प्रतिष्ठित डॉक्टर को पाकर लोगों ने उन्हें घेर लिया !!

किसी को जुकाम था ! 
तो किसी के पेट में गैस ! 
सभी मुफ्त की राय लेने 
के चक्कर में थे ! 
शिष्ठाचार वश डॉक्टर साहब किसी को मना नहीं कर
पा रहे थे ! 
उस पार्टी में शहर के एक नामी वकील भी आये हुए थे !!

मौका मिलते ही डॉक्टर साहब वकील साहब के पास पहुँचे और उन्हें

एक ओर ले जाकर बोले – 
यार ! मैं तो परेशान हो गया हूँ !!

सभी फ्री में इलाज कराने के चक्कर में हैं ! 
तुम्हे भी ऐसे लोग मिलते हैं क्या ?

वकील साहब – 
बहुत मिलते हैं !!

डॉक्टर साहब – तो फिर कैसे निपटते हो ?

वकील साहब – 
बहुत सीधा तरीका है !

मैं उन्हें सलाह देता हूँ जैसा कि वो चहाते हैं !

बाद में उनेक घर बिल भिजवा देता हूँ !

यह बात डॉक्टर साहब को कुछ जम गयी !

अगले दिन उन्होंने भी पार्टी में मिले कुछ लोगों के बिल बनाये
और उन्हें भिजवाने ही वाले थे कि तभी उनका नौकर अन्दर आया
और बोला – 
साहब कोई आपसे मिलना चाहता है !!

डॉक्टर साहब – 
कौन है?

नौकर – वकील साहब का चपरासी है ! 
कहता है ..

कल रात पार्टी में 👇


आपने वकील साहब से राय ली थी उसका बिल आया है !!!!😇😇


Wednesday, 26 August 2020

New Aircrafts For PM and CM

भाई, तू ही रह गया था... तू भी लूट ले..!

😠😤

New Aircrafts For PM and CM 
Congratulations 
to 
PM and CM 
https://bit.ly/3ba80Zs




New Aircrafts 2 Set of  B 777 For 
PM Narendra Modi 
and 
C 250 CM Shivraj Singh Chauhan 

नए एयरक्रॉफ्ट 2 बी 777  
पीएम नरेंद्र मोदी के लिए 
तथा
सी 250 सीएम शिवराज सिंह चौहानके लिए 



आज हमारे दूध वाले ने पूछा- 
कल से आपके लिये Immunity Booster दूध लाऊ?
मगर 10 रु० प्रति लीटर ज्यादा देने होंगे।

मैंने आश्चर्य से सवाल किया - अरे, ये कैसा दूध है?

ऐसी गाय 🐂 का दूध जिसे हम 
रोज़ नींबू 🍋और संतरा 🍊खिलाते हैं। 
ताकि दूध में Vitamin C मिले। 

रोज सुबह 1 घंटा धूप ☀️में खडी रखते हैं 
ताकि उसके दूध में Vitamin D भी हो।

साथ ही चारे के साथ पालक, तुलसी, गिलोय भी मिलाया जाता है।
😂😂😂

भाई, तू ही रह गया था... तू भी लूट ले..!
😠😤